Responsive Ad Slot

देश

national

कानपुर: दरोगा के बेटे ने दोस्त के साथ मिलकर नाबालिग से किया गैंगरेप, FIR दर्ज

Wednesday, March 10, 2021

/ by Editor

कानपुर 

उत्तर प्रदेश के कानपुर में थाना सजेती के अंतर्गत गैंगरेप का एक मामला सामने आया है। इस मामले में गैंगरेप की पीड़िता के पिता ने बांदा में तैनात एक दरोगा के बेटे व उसके दोस्त के ऊपर बेटी के गैंगरेप का आरोप लगाया है। वहीं दरोगा के बड़े बेटे पर मुकदमा दर्ज न कराने का दबाव बनाते हुए गाली गलौज व जान से मारने की धमकी का आरोप भी लगाया है। वहीं पुलिस ने मामले में एक आरोपी गोलू को गिरफ्तार कर लिया है।

वही गैंगरेप की जानकारी होते ही मौके पर एसपी ग्रामीण ब्रजेश श्रीवास्तव के साथ सीओ गिरीश कुमार भी थाने पहुंच गए। उन्होंने गैंगरेप पीड़िता किशोरी के पिता से बातचीत करते हुए आरोपी दीपू की गिरफ्तारी के लिए पुलिस के पांच टीमों का गठन किया गया है।

पहले किया गैंगरेप और फिर दी धमकी

पीड़ित परिवार ने आरोप लगाते हुए बताया कि उनकी नाबालिग 13 वर्षीय बेटी मंगलवार देर शाम सात बजे खेत से चारा लेकर लौट रही थी। अभी गांव के ही रहने वाले देवेंद्र बांदा में दरोगा के पद पर तैनात हैं। उनका परिवार गांव में ही रहता है। आरोप है कि बुधवार देर शाम दरोगा के छोटे बेटे दीपू और उसके साथी गोलू ने उनकी बेटी को पकड़ लिया और जबरन पास के खेत में ले जाकर किशोरी के साथ दुष्कर्म किया।

आरोपियों के चंगुल से किशोरी ने दी परिजनों को जानकारी

किशोरी जब आरोपियों के चंगुल से छूट कर घर पहुंची तो उसने अपनी मां को उसके साथ घटी घटना की जानकारी दी। इसकी जानकारी होते ही जब परिवार के साथ सभी थाने आने लगे तो दुष्कर्म के आरोपी दीपू के बड़े भाई सौरभ ने रोक कर मुकदमा न लिखवाने का दबाव बनाया। जब परिजन नहीं माने तो सौरभ ने गाली गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दी। किसी तरह गांव वालों की मदद से पीड़ित परिजन थाने पहुंच गए और गैंगरेप की जानकारी पुलिस को दी। इसके बाद पुलिस में मुकदमा दर्ज करते हुए आरोपी की गिरफ्तारी के लिए टीम लगा दी गई हैं।

क्या बोले एसपी ग्रामीण

पूरे मामले को लेकर एसपी ग्रामीण ब्रजेश श्रीवास्तव ने बताया कि पीड़िता के पिता थाने पहुंचे थे। उनकी तहरीर पर धारा 376 डी ए ,504 ,506 भादवि व 5G/6 पॉक्सो के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। किशोरी की स्थिति सामान्य है उसका मेडिकल भी करवा दिया गया है। वहीं नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पांच टीमें गठित की गई हैं।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company