देश

national

सेक्रेटरी द्वारा किया जा रहा सरकारी धन का बंदरबांट

Saturday, March 27, 2021

/ by Editor

संवाददाता- इंडेविन टाइम्स

गौरीगंजअमेठी।

o पात्रो को नही मिला सरकारी आवास

o 15 वर्षों से एक ही ब्लाक में तैनात हैं सेक्रेटरी

o नियमों के विपरीत कर्मचारी पर शासन मेहरबान

o प्रधान ने सेक्रेटरी की शिकायत मुख्यमंत्री से किया ,नतीजा ढाक के तीन पात 

o डीडी स्तर से लगाई गई गलत रिपोर्ट

o मुख्यमंत्रीके पोर्टल पर जांचअधिकारी लगाते हैं फर्जी रिपोर्ट

जिले के गौरीगंज ब्लॉक में  पिछले 15 वर्षों से तैनात भ्रष्ट सेक्रेटरी की शिकायत ग्राम प्रधान द्वारा मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश से की गई।लेकिन सछम अधिकारियों द्वारा गलत एवं मिथ्या रिपोर्ट लगाई गई।  जिससे पात्रो को सरकारी आवास की सुविधा से वंचित होना पड़ा  ।अपात्र सेक्रेटरी से साठ गांठ कर सूची में हेराफेरी कर सरकारी धन का बंदरबांट कर लिया।

मामला गौरीगंज विकास खंड के ग्राम सराय भागमानी गाँव का है।गाँव के प्रधान डॉक्टर चंद्र प्रकाश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को  शिकायती प्रार्थना दिया ।उनका आरोप है कि सेक्रेटरी राम अभिलाष कनौजिया द्वारा गरीबो व वंचितों को सरकारी आवास दिलाने के नाम सरकारी धन का दलालों के माध्यम से बंदरबांट की गई ।जिससे पात्र लोगो को आवास नहीं मिला।इसके अलावा ग्राम प्रधान द्वारा दी गई पात्रों की सूची को दरकिनार कर अपात्रो को आवास दे दिया गया।उनसे आवास के बदले मोटी रकम वसूल की गई। प्रधान द्वारा दिए गए शिकायती पत्र की जांच सहायक विकास अधिकारी द्वारा की गई जिन्होंने सेक्रेटरी को बचाने के लिए गलत और मिथ्या रिपोर्ट विभाग को भेज दी। जिससे गरीब एवं पात्र लोगों को सरकारी आवास की सुविधा नहीं मिल सकी तथा शिकायती पत्र को कचरे के डिब्बे में डालने में प्रमुख भूमिका निभाई। जबकि ग्राम प्रधान डॉ चंद्र प्रकाश यादव ने शिकायत की जांच सीडीओ स्तर  से की थी। लेकिन शासन के कर्मचारियों द्वारा शिकायती पत्र को पूर्ण रूप से अनदेखा कर दिया गया और मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया  प्रधान का आरोप है कि 15वें राज्य  वित्त का पैसा लगभग ₹40000 बकाया है ।जिसमें ईट का भुगतान ,मिट्टी का भुगतान सेक्रेटरी राम अभिलाख की भ्रष्ट नीतियों के चलते नहीं हो पाया ग्राम प्रधानों के अधिकार की होने के बाद सरकारी धन की बंदरबांट कर दी गई और गांव का विकास सिर्फ कागजों के स्तर पर ही है उनका हकीकत से कोई लेना देना नहीं हैं ।पिछले 15 वर्षों से गौरीगंज ब्लाक में तैनात हैं। जबकि शासन के निर्देशों के अनुसार 5 वर्ष से अधिक कोई भी ग्राम पंचायत अधिकारी एक ही ब्लॉक  में तैनात नहीं हो सकता ।लेकिन उच्च रसूख के चलते राम अभिलाख कनौजिया पिछले 15 वर्षों से एक ही ब्लॉक में तैनात हैं उनके स्थानांतरण की मांग भी मुख्यमंत्री से की गई। लेकिन जनप्रतिनिधियों के हस्तक्षेप के कारण उनका तबादला नहीं हो सका और ना ही उनका कार्यक्षेत्र बदला गया वे खाऊ कमाई नीति के चलते आज भी अपनी जगह पर बरकरार हैं।जिससे ग्रामवासियों में काफी रोष है ।इस बारे में जब ग्राम पंचायत अधिकारी रामअभिलाष कनौजिया से संपर्क करने का प्रयास किया गया तो उनसे संपर्क नहीं हो पाया।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company