Responsive Ad Slot

देश

national

रेमडेसिविर इंजेक्शन की हो रही कालाबाजारी

Saturday, April 24, 2021

/ by Dr Pradeep Dwivedi

इंडेविन न्यूज नेटवर्क

लखनऊ।

कुछ लोग अपनी गलत हरकतों से बाज नहीं आते हैं। संकट की घड़ी में भी ये लोग कालाबाजारी करने से नहीं चूकते। रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी में लखनऊ में कई बड़े नाम सामने आए हैं। लगातार दूसरे दिन बड़े पैमाने पर इंजेक्शन पकड़ी गई। केजीएमयू व क्वीनमेरी अस्पताल के कर्मचारी, हर्षा अस्पताल के मालिक शहजाद, दवा व्यापारी और कई अन्य इस कालाबाजारी में शामिल हैं। शुक्रवार को 16 लोगों को कालाबाजारी के आरोप में गिरफ्तार किया गया।

नाका और अमीनाबाद पुलिस ने दवा कम्पनी के एजेन्ट समेत छह लोगों को पकड़ कर 127 इंजेक्शन, गोमती नगर पुलिस ने हर्षा अस्पताल के मालिक प्रियदर्शिनी कालोनी निवासी शहजाद समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर 54 इंजेक्शन बरामद किये हैं। वहीं मानकनगर पुलिस ने चार दलालों को गिरफ्तार कर 91 इंजेक्शन बरामद किये हैं। ये सभी इंजेक्शन नकली पाये गये हैं। नाका पुलिस को मिले 116 इंजेक्शन असली पाये गये हैं। वहीं अन्य बरामद इंजेक्शन असली है या नकली है, इसके लिये इनके सैम्पल स्वास्थ्य विभाग को जांच के लिये भेज दिये गये हैं।

व्हाटसएप ग्रुप से कालाबाजारी की डील 
डीसीपी पश्चिम देवेश पाण्डेय के मुताबिक मोहनलालगंज के अंकुश वैश्य उर्फ प्रियंका रघुवंशी ने एक व्हाट्सएप बना रखा था। इसके जरिये ही वह जरूरतमंदों को रेमडेसिविर इंजेक्शन उपलब्ध कराने का दावा करता था। वह एक इंजेक्शन के बदले 30 हजार रुपये वसूल रहा था। इसकी जानकारी पर इंस्पेक्टर नाका मनोज मिश्र ने दो इंजेक्शन लेने के लिए प्रियंका से बात की। उसने रेमडेसिविर इंजेक्शन की दो डोज के लिये 60 हजार रुपये मांगे।

उसने चारबाग आने को कहा। इंस्पेक्टर ने चारबाग मेट्रो स्टेशन के पास सादे कपड़ों में एक सिपाही को भेजा। इंजेक्शन मिलते ही पुलिस ने अंकुश और उसके तीन साथियों को पकड़ लिया। अन्य लोगों में केजीएमयू का संविदाकर्मी गोण्डा निवासी राम सागर, स्कोप अस्पताल के कर्मचारी राजाजीपुरम निवासी अमनदीप मदान और संडीला निवासी अंशु गुप्ता शामिल है। अंकुश ने बताया कि इंजेक्शन रितांशु मौर्या उपलब्ध करता था। जिसे वह लोग 25 से 30 हजार में बेचते थे। आरोपियों के पास 116 इंजेक्शन, एक लाख 94 हजार रुपये और तीन बाइक मिली हैं। 

मेडिसिन मार्केट के व्यापारी गिरफ्तार
एडीसीपी पश्चिम राजेश श्रीवास्तव के मुताबिक पुरानी मेडिसिन मार्केट के व्यापारी द्वारा रेमडेसिविर इंजेक्शन ब्लैक मार्केट में बेचने जाने की सूचना मिली थी। इंस्पेक्टर अमीनाबाद आलोक राय को जांच के लिए कहा था। छानबीन के दौरान यहियागंज निवासी सौरभ रस्तोगी और कश्मीरी मोहल्ला निवासी आमिर अब्बास को नजीराबाद से पकड़ा गया। उनके पास से 11 इंजेक्शन बरामद हुए। सौरभ और आमिर के मुताबिक उन्हें यह इंजेक्शन दवा कम्पनी का एजेंट उपलब्ध कराता था। इंजेक्शन पर गलत नाम लिखा हुआ है। ऐसे में इंजेक्शन नकली होने का अंदेशा है। जिन्हें जांच के लिए भेजा गया है। 

निजी अस्पताल संचालक भी दलाली में शामिल
गोमतीनगर पुलिस ने भी रेमडेसिविर इंजेक्शन की दलाली करने वाले चार लोगों को गिरफ्तार किया है। एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव के मुताबिक विकासखंड के पास से हर्षा हास्पिटल के मालिक शहजाद निवासी प्रियदर्शिनी कालोनी, दुबग्गा निवासी सचिन रस्तोगी, दुबग्गा निवासी कृष्णा दीक्षित और ठाकुरगंज निवासी रितेश गौतम को गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि कृष्णा दीक्षित और रितेश मेडिकल दुकानों पर दवाओं की सप्लाई करते हैं। यह लोग इंजेक्शन सचिन रस्तोगी को छह हजार रुपये में बेचते थे। वहीं, सचिन हर्षा अस्पताल के मालिक शहजाद को इंजेक्शन साढ़े दस हजार में देता था।

केजीएमयू कर्मियों का बड़ा नेटवर्क 
एडीसीपी मध्य चिरंजीव नाथ सिन्हा के मुताबिक दवाओं की कालाबाजारी के खिलाफ छेड़े गए अभियान में कनौसी पुल के पास से केजीएमयू में नर्सिंग तृतीय वर्ष के छात्र सुलतानपुर निवासी विकास दुबे, फार्मेसिस्ट खदरा निवासी कौशल शुक्ला, केजीएमयू के ओटी टेक्नीशियन सोनभद्र निवासी अजीत मौर्य, क्वीनमेरी अस्पताल में स्टाफ नर्स बलरामपुर निवासी राकेश तिवारी को गिरफ्तार किया गया। इनके पास 91 इंजेक्शन बरामद हुए। ये सभी नकली हैं। एडीसीपी के अनुसार दलालों तक पहुंचने के लिए सप्लायर कौशल से फोन पर बात कर छह इंजेक्शन मांगे गए थे।

कौशल ने प्रति इंजेक्शन 20 हजार रुपये में देने की बात कही थी। सौदा तय होने पर कौशल को सप्लाई देने के लिए कनौसी पुल बुलाया गया। यहीं सबको गिरफ्तार कर लिया गया। आपदा में दवाओं की मुनाफाखोरी करने वालों में बाराबंकी निवासी रितांशु मौर्य अहम कड़ी है। उसके जरिए ही मानकनगर और नाका में पकड़े गए आरोपियों को रेमडेसिविर इंजेक्शन उपलब्ध कराए जाते हैं। रितांशु असली के साथ ही नकली रेमडेसिविर भी सप्लाई करता है। रितांशु मौर्य की तलाश में छापेमारी की जा रही है।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company