देश

national

सी आर पी एफ केंद्र त्रिशुण्डी में मनाया गया शौर्य दिवस

हरिकेश यादव-संवाददाता (इंडेविन टाइम्स)

भादर/अमेठी।

केंद्र सीआरपीएफ त्रिशुंडी अमेठी में शौर्य दिवस के रूप में मनाया गया ।इस अवसर पर सर्वप्रथम ग्रुप केंद्र में स्थापित क्वार्टर गार्ड पर  सुरेंद्र चौधरी कमांडेंट ग्रुप केंद्र अमेठी द्वारा सलामी ली गई ।तत्पश्चात विशेष सैनिक सम्मेलन का आयोजन किया गया और राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित पदक धारकों को उनकी वीर गाथाओं का वर्णन करते हुए सम्मानित किया गया ।शहीदों को नमन करते हुए  सुरेंद्र चौधरी कमांडेंट ने कहा कि हमारे साथियों ने देश की एकता एवं अखंडता को कायम रखने के लिए अपना सर्वोत्तम बलिदान दिया है ।हमें उनके दिखाए रास्ते पर चलते हुए निरंतर आगे बढ़ना है । सीआरपीएफ की दितीय बटालियन की चार कंपनियां पश्चिमी पाकिस्तान की सीमा पर रक्षा क्षेत्र के सरदार पोस्ट पर तैनात थे और आज ही के दिन 9 अप्रैल 1965 को लगभग 0 3:30 बजे पाकिस्तान की इन्फेंट्री ब्रिगेड का बहादुरी से मुकाबला करते हुए उन्हें पीछे धकेल दिया।जिसमें  पाकिस्तानी सेना के 34 सैनिक मारे गए। उनके  4 सैनिकों को जिंदा पकड़कर  दुश्मनों को भारी नुकसान पहुंचाया ।इस घटना में सीआरपीएफ के 8 जवान शहीद हुए तथा 19 जवानों को पाकिस्तानी सेना ने पकड़ लिया ।यह ऑपरेशन लगभग 12 घंटे तक चला ।यह घटना दुनिया के इतिहास में है पहली घटना थी जब किसी अर्धसैनिक बल की छोटी सी टुकड़ी ने पूरी एक पिकेट जिसमें लगभग 10000 जवान का सामना किया और उसे वापस लौटने को मजबूर किया ।इस ऐतिहासिक युद्ध में वीरगति को प्राप्त हुए शहीद की याद में आज के दिन को  शौर्य दिवस के रूप में अलंकृत किया गया है और तभी से लगातार मनाते आ रहे हैं ।सैनिको की याद में वॉलीबॉल प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया है ।इस अवसर पर सुमित कुमार उप कमांडेंट ग्रुप के अंदर मिर्ची एवं आरटीसी अमेठी एवं 247 बटालियन अन्य राज्य पदाधिकारी अधीनस्थ अधिकारी एवं जवान उपस्थित थे।



Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Group