देश

national

लखनऊ: केजीएमयू, पीजीआई में ब्लैक फंगस मरीजों के लिए बने स्पेशल वॉर्ड

 


लखनऊ ।

म्यूकरमाइकोसिस यानी ब्लैक फंगस से पीड़ित मरीजों के इलाज के लिए अस्पतालों में स्पेशल वॉर्ड बनाए जा रहे हैं। इसके लिए केजीएमयू के गांधी वॉर्ड में 30-30 बेड के दो वॉर्ड बनाए गए हैं। इसी तरह पीजीआई के राजधानी कोविड अस्पताल में 10 दस बेड का अलग वॉर्ड बनाया गया है। पीजीआई में इस वॉर्ड के लिए अलग टीम बनाई गई है तो केजीएमयू में सोमवार से नई टीम काम शुरू करेगी।

केजीएमयू में बनाए गए दो वार्ड 

केजीएमयू में मेडिसिन विभाग के हेड प्रो. वीरेंद्र आतम ने बताया कि गांधी वॉर्ड में दो वॉर्ड बनाए गए हैं। एक वॉर्ड में ऐसे मरीज भर्ती किए जा रहे हैं, जो कोरोना संक्रमण के साथ ब्लैक फंगस की चपेट में हैं। दूसरे वॉर्ड में ब्लैक फंगस से पीड़ित पोस्ट कोविड मरीज भर्ती हो रहे हैं। दोनों वॉर्डों के मरीजों के लिए ईएनटी, ऑप्थमॉलजी और मेडिसिन के डॉक्टरों की अलग टीम भी बनाई जा रही है।

दूसरे जिलों आ रहे ज्यादातर मरीज

डॉ. वीरेंद्र आतम ने बताया कि ब्लैक फंगस का इलाज छोटे संस्थानों में भी आसानी से हो सकता है। इसमें आइसोलेशन की भी जरूरत नहीं। वहीं, पीजीआई में म्यूकरमाइकोसिस के नोडल अधिकारी डॉ. अमिम केसरी ने बताया कि ब्लैक फंगस के मरीजों के लिए फिलहाल 10 बेड रिजर्व किए गए हैं। मरीज बढ़ेंगे तो बेड भी बढ़ाए जाएंगे। फिलहाल ब्लैक फंगस के ज्यादातर मरीज दूसरे जिलों या दूसरे अस्पतालों से रेफर होकर आ रहे हैं।

केजीएमयू में 20 तो पीजीआई में 8 मरीज

केजीएमयू में भर्ती म्यूकर माइकोसिस के मरीजों का आंकड़ा रविवार को 20 हो गया, जबकि शनिवार तक यहां 13 मरीज थे। इसी तरह पीजीआई में अब तक आठ मरीज भर्ती हो चुके हैं। इनमें सिर्फ एक मरीज पोस्ट कोविड है।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Group