देश

national

वर्दी की हनक दिखाकर अवैध वसूली में लगी रामगंज थाने की पुलिस

० ढेंमा बाजार के आये दिन चलती है  पुलिसिया गुडंई और वसूली

संवाददाता-इंडेविन टाइम्स

भादर/अमेठी।

मामला अमेठी जिले के थाना रामगंज अंतर्गत ढेंमा बाजार का है।ढेंमा बाजार के दुकानदारों के  बताने के अनुसार 8 जुलाई को रात करीब 8:00 बजे रामगंज में तैनात दोनों सिपाही शराब का सेवन करके ढेंमा बाजार में आए और अपना अवैध वसूली का धंधा चालू कर दिया तथा दुकान दारो को माँ बहन की भद्दी भद्दी गालियां देने लगे।

आनन फानन में दो दुकानों का काट दिया चालान

जिन दो दुकानों का चालान काटा वो दोनों दुकाने कमरे के अंदर है और सिपाही मनीराम व मनीष द्वारा उसको रोड पर अतिक्रमण के नाम पर चालान काटा है। जबकि दुकान कमरे के अंदर है तो रात में रोड पर अतिक्रमण कैसे हो सकता है।दुकानदारों का कहना है डेढ़ 2 महीना से इनकी इसी तरह वसूली चल रही है।

दोनों सिपाही अपने आप को अमेठी सीओ का  अपना खास खास बताते हैं। लेकिन कल जब यह वसूली करने आए तब दुकानदारों ने मन बना लिया कि आज इनकी सारी कारनामों की पोल खोलेंगे दो दुकान का चालान काटे ही थे। तभी अन्य दुकानदार भी आ गए। इन से बातचीत करने के दौरान  दोनों सिपाही दारू के नशे में मिले ।जब इनका  मेडिकल कराने के लिए कहा गया तभी हाथ पैर जोड़ते नजर आए ।अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष रामसूरत साहू द्वारा इनको रोका गया। उस समय बाजार के दुकानदार भी वहां पर मौजूद थे इनकी मेडिकल जांच कराने को कहा गया तो यह गिड़गिड़ाने लगे और हाथ पैर जोड़ने लगे। 

व्यापार मंडल अध्यक्ष द्वारा इसकी जानकारी सर्किल ऑफीसर (सीओ) को दी गई सर्किल ऑफीसर ने बाजार में थानाध्यक्ष को भेजने को कहा लेकिन रामगंज थानाध्यक्ष मौके पर नही आये मामला बढ़ता देख सिपाही मनीराम ने चलान को फाड़कर फेक देने को कहा ।   

मौके पर नही आये थानाध्यक्ष रामगंज

व्यापारियों का आरोप हैं कि कई महीनों से बाजार वालो पर वर्दी का रौब दिखाकर व्यापारियों को प्रताड़ित कर करते थे अवैध वसूली। ढेंमा बाजार से महज नौ किलोमीटर दूर है राम गंज थाना लेकिन घटना के लगभग 18 / 20 घण्टे बीत जाने के बाद आये रामगंज थाना अध्यक्ष लेकिन किसी प्रकार की व्यापारियों की न्याय की बात नहीं कि अब देखना ये है कि क्या व्यपारियो को न्याय मिलेगा। पुलिस को बढ़ावा।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Group