देश

national

मुख्तार अंसारी के करीबी उमेश सिंह के चार मंजिला मकान पर चला बुलडोजर

Saturday, September 25, 2021

/ by Editor

मऊ

उत्तर प्रदेश में माफिया तत्वों के खिलाफ जारी अभियान के तहत शनिवार को मऊ जिला प्रशासन ने बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के करीबी कोयला माफिया एवं त्रिदेव कंट्रक्शन के मालिक उमेश सिंह का भीटी में 10 करोड़ रुपये की लागत से बना चार मंजिला मकान पोकलेन से ध्वस्त करा दिया। प्रशासन के इस कार्रवाई से माफियाओं में हड़कंप मच हुआ है।

सीओ सिटी धनजंय सिंह ने बताया कि सिटी मजिस्ट्रेट के आदेश के क्रम में अवैध निमार्ण को ध्वस्त कराया जा रहा है। मऊ नगर के कोतवाली क्षेत्र के भीटी में त्रिदेव कंट्रक्शन का चार मंजिला शापिंग काम्प्लेक्स बना था। उसमें एक मेगा मार्ट काफी दिनों से किराए पर चल रही थी। पूर्व में मऊ के जिलाधिकारी रहे ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी ने उक्त भवन को सील करते हुए शापिंग माल को भी सील कर दिया। कई महीनों तक सील रहने के बाद शापिंग माल के मालिक ने प्रशासन से अनुरोध कर माल को खोलने की इजाजत मांगी थी जिससे उनका नुकसान न हो और वह अन्यत्र कहीं अपना मेगा स्टोर स्थापित कर सके। 

प्रशासन से आदेश मिलने के कुछ दिन बाद उक्त मेगा स्टोर के मालिक ने अपना सामान वहां से निकालकर अपना मेगा स्टोर बिहार में स्थापित कर लिया। शनिवार को मऊ जिला प्रशासन की टीम भारी फोर्स के साथ सदर विधायक मुख्तार अंसारी के सहयोगी एवं मन्ना सिंह हत्याकांड में अभियुक्त उमेश सिंह के त्रिदेव काम्प्लेक्स को गिराने पंहुची। प्रशासन ने वाराणसी-गोरखपुर मुख्य मार्ग को सहरोज मोड़ से लेकर नरईं बांध मोड़ व बलिया मोड़ तक रास्ते को रोक दिया। वहां से गाड़ियों को दूसरे रास्ते से मोड़ दिया गया। ढहाया जाने वाला भवन मुख्य भवन मार्ग होने की वजह से रास्ते को बैरेकेटिंग कर दिया गया, जिससे की कोई जनहानि न हो। 

क्षेत्राधिकारी ने बताया कि भवन संख्या 987 भीटी जो उमेश सिंह के तीन लड़को अजय सिंह, विजय सिंह व विनय सिंह के नाम से है, जिसे आरबी एक्ट की धारा 10 के अंतर्गत भवन को अवैध करार देते हुए जिलाधिकारी के आदेश पर ध्वस्त कराया जा रहा है। संपत्ति की कीमत लगभग 10 करोड़ की आंकी जा रही है।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company