देश

national

यूपी चुनाव को लेकर बसपा ने 100 उम्मीदवारों के नाम का किया चयन

Thursday, December 23, 2021

/ by इंडेविन टाइम्स

लखनऊ

बहुजन समाज पार्टी ने यूपी विधानसभा चुनाव के लिए 100 उम्मीदवारों को अंतिम रूप दे दिया है। बसपा अध्यक्ष की ओर से इन नामों पर मुहर लगाई जा चुकी है। पार्टी नेताओं की ओर से आयोजित जनसभाओं में चयनित उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की जा रही है। उम्मीदवारों को अपने विधानसभा क्षेत्र का प्रभारी भी बनाया जा रहा है। इससे वे उस इलाके में चुनावी तैयारियों को अंतिम रूप देने में कामयाब हो सकेंगे।

यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर तमाम राजनीतिक दल अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे हैं। लेकिन, इन तैयारियों में अब बसपा आगे निकलती दिख रही है। पहले उम्मीदवार घोषित कर पार्टी अपने उम्मीदवारों को लेकर जनता के बीच की प्रतिक्रियाओं को जानने की कोशिश कर रही है। साथ ही, पार्टी ने विधानसभा क्षेत्र के लिए तय किए गए उम्मीदवारों को ही प्रभारी की जिम्मेदारी दे दी है। ऐसे में वे जनता का मूड देखकर आगे की रणनीति को तय कर सकते हैं। मतदाताओं को साधने के लिए वे बेहतर तरीके से रणनीति तैयार कर सकते हैं।

बसपा नेताओं का कहना है कि मध्य जनवरी तक सभी सीटों पर उम्मीदवार के नाम तय कर लिए जाएंगे। मतलब, बाकी की 300 सीटों पर भी उम्मीदवारों के चयन का कार्य कर लिया जाएगा। इसके लिए नामों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। उम्मीदवारों के नाम तय होने के साथ ही बहुजन समाज पार्टी प्रदेश में बड़े पैमाने पर अपने प्रचार अभियान की शुरुआत करेगी।

चुनाव की घोषणा के बाद मैदान में उतरेंगी मायावती

बसपा अध्यक्ष मायावती को पार्टी ने विधानसभा चुनाव की घोषणा के बाद चुनावी मैदान में उतारने का निर्णय लिया है। चुनाव आयोग की ओर से तारीखों का ऐलान होने के बाद मायातवी के चुनावी सभाओं का कार्यक्रम शुरू होगा। दरअसल, बसपा अध्यक्ष पर अब तक राजनीतिक मैदान से दूर रहने का आरोप लगता रहा है। उन्होंने अपनी गतिविधियों को बयान और ट्वीट तक सीमित कर लिया है।

'टिकट के लिए नेताओं को लुभा रहे तमाम दल'

बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि भाजपा, सपा और कांग्रेस विधानसभा चुनाव के लिए टिकट लेकर नेताओं को लुभा रही है। इन दलों ने एक ही सीट पर 10 उम्मीदवारों को टिकट देने का वादा किया है, लेकिन उनकी रणनीति का पर्दाफाश हो गया है। संभावित उम्मीदवारों पर अब सार्वजनिक सभाओं में लोगों को लाने के लिए दबाव डाला जा रहा है। अन्य दल में विद्रोह की आशंका है। इसलिए, वे लोग उम्मीदवारों की घोषणा में देरी कर रहे हैं।

सर्वजन हिताय- सर्वजन सुखाय का फॉर्मूला

सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि बसपा चुनाव जीतने के लिए 'सर्वजन हिताय- सर्वजन सुखाय' के सोशल इंजीनियरिंग फॉर्मूले पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि सभी समुदायों के सदस्यों को टिकटों के वितरण में पर्याप्त प्रतिनिधित्व दिया जा रहा है। मायावती ने उत्तराखंड की 70 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। इसके अलावा पंजाब में शिरोमणि अकाली दल गठबंधन के साथ पार्टी चुनावी मैदान में उतरेगी। इन राज्यों के उम्मीदवारों को भी अंतिम रूप दिया जा रहा है।

लखनऊ की सात सीटों पर दिया गया अंतिम रूप

बसपा जिला इकाई के अध्यक्ष अखिलेश अंबेडकर ने कहा कि पार्टी ने लखनऊ जिले की नौ सीटों में से सात विधानसभा सीटों पर टिकटों को अंतिम रूप दे दिया है। अल्पसंख्यक समुदाय का समर्थन हासिल करने के लिए मायावती ने चार विधानसभा सीटों- लखनऊ उत्तर, लखनऊ पश्चिम, बख्शी का तालाब और सरोजिनी नगर पर मुस्लिम उम्मीदवार खड़े किए हैं। बसपा ने वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में महज 19 सीटों पर जीत हासिल की थी।

हालांकि, बसपा में से केवल 6 विधायक रह गए हैं। कई विधायकों ने या तो पार्टी छोड़ दी या फिर उन्हें पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए निष्कासित कर दिया गया है। ऐसे में इस बार पार्टी पूरी मजबूती के साथ चुनावी मैदान में उतरने की तैयारी कर रही है।


No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Group