देश

national

नोडल अधिकारी ने कोविड-19 व उसके टीकाकरण, ठंड के दृष्टिगत रेन बसेरे संबंधित अधिकारियों के साथ की समीक्षा, दिए आवश्यक निर्देश

Tuesday, January 11, 2022

/ by Editor

० 15 से 18 वर्ष के युवाओं के टीकाकरण हेतु विस्तृत कार्य योजना बनाकर शत-प्रतिशत युवाओं का टीकाकरण करने के दिए निर्देश

० निगरानी समितियों को पुनः सक्रिय कर कोविड एक्टीविटीज बढ़ाने के दिए निर्देश

० कोविड पाजिटिव व्यक्तियों का पूरी सक्रियता से इलाज कराया जाए- नोडल अधिकारी

० पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम के माध्यम से कोविड-19 संक्रमण से बचाव हेतु जन सामान्य को किया जाए जागरूक

० भीषण ठंड के दृष्टिगत जनपद में रैन बसेरों में समुचित व्यवस्था तथा प्रमुख स्थानों पर अलाव जलाने के दिए निर्देश

० निराश्रित गोवंश स्थलों पर ठंड के दृष्टिगत समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के दिए निर्देश

० सड़क पर निराश्रित गोवंश दिखे तो संबंधित के विरुद्ध होगी कड़ी कार्यवाही- नोडल अधिकारी।

हरिकेश यादव-संवाददाता (इंडेविन टाइम्स)

अमेठी। 

अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा/जनपद नोडल अधिकारी  मोनिका एस. गर्ग ने आज एचएएल गेस्ट हाउस में कोविड-19 व उसके टीकाकरण, ठंड के दृष्टिगत रेन बसेरा, अलाव, निराश्रित गोवंशों के संरक्षण तथा अन्य व्यवस्थाओं हेतु संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक कर आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में जिलाधिकारी श्री राकेश कुमार मिश्र, पुलिस अधीक्षक श्री दिनेश सिंह, मुख्य विकास अधिकारी डॉ अंकुर लाठर, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व एसपी सिंह, अपर जिलाधिकारी न्यायिक आरके द्विवेदी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सीमा मेहरा, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी, डीपीआरओ, डीएसओ, समस्त अधिशासी अधिकारी मौजूद रहे। बैठक में नोडल अधिकारी ने सर्वप्रथम टीकाकरण के संबंध में जानकारी ली तथा 20 जनवरी 2022 तक 18 वर्ष से ऊपर के सभी व्यक्तियों को प्रथम डोज लगाने तथा द्वितीय डोज की प्रगति बढ़ाने के निर्देश दिए। नोडल अधिकारी ने 15 से 18 वर्ष के युवाओं के टीकाकरण हेतु विस्तृत कार्य योजना बनाकर शत-प्रतिशत युवाओं का टीकाकरण कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वर्तमान में कोविड-19 के केसेज की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है जिसके दृष्टिगत निगरानी समितियों को पूर्व की भांति पुनः सक्रिय किया जाए तथा विदेश या अन्य प्रदेशों से आने वाले व्यक्तियों की निगरानी समितियों के माध्यम से चिन्हांकन कर उनकी शत-प्रतिशत सैंपलिंग कराई जाए, इसके साथ ही जनपद स्तर पर स्थापित एकीकृत कोविड कंट्रोल रूम को सक्रिय किया जाए तथा कंट्रोल रूम के माध्यम से लगातार कोविड-19 के संबंध में की जा रही कार्यवाही की प्रतिदिन समीक्षा किया जाए। उन्होंने प्रतिदिन की सैंपलिंग की जानकारी ली जिस पर सीएमओ ने बताया कि जनपद में प्रतिदिन लगभग 2600 व्यक्तियों की सैंपलिंग की जा रही है जिसमें 2000 आरटीपीसीआर तथा 600 एंटीजन हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संबंध में पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम के माध्यम से जन सामान्य को मास्क लगाने, सैनिटाइजर का प्रयोग करने तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के संबंध में लगातार जागरूक किया जाए, निगरानी समितियों द्वारा जिन व्यक्तियों का टीकाकरण अभी तक नहीं हुआ है उन को चिन्हित कर उनकी सूची उपलब्ध कराई जाए, आरआरटी टीम द्वारा होम आइसोलेशन वाले मरीजों को मेडिकल किट उपलब्ध कराया जाए, निगरानी समितियों को थर्मल स्कैनर उपलब्ध कराए जाएं, अस्पतालों में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए टेली कंसल्टेंसी सेवा को पुनः प्रारंभ किया जाए, इसके साथ ही नोडल अधिकारी ने अस्पतालों में मौजूद सुविधाओं के संबंध में जानकारी ली जिस पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जनपद में 7 ऑक्सीजन प्लांट हैं जो कि सभी संचालित हैं, 528 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर हैं, 24 वेंटीलेटर हैं सभी क्रियाशील है, L2 हॉस्पिटल में 40 बेड तथा एल-1 प्लस हॉस्पिटल में 10 10 बेड की सुविधा उपलब्ध है, 300 आइसोलेशन बेड बनाए गए हैं, जनपद में 64 एंबुलेंस हैं जिसमें 3 एएलएस 31 एम्बुलेंस 108 तथा 30 एम्बुलेंस 102 हैं, नोडल अधिकारी ने कोविड पॉजिटिव व्यक्तियों का पूरी सक्रियता से इलाज कराने के निर्देश दिए। इसके साथ ही नोडल अधिकारी ने भीषण ठंड के दृष्टिगत रैन बसेरों में समुचित व्यवस्था तथा प्रमुख स्थानों पर अलाव जलाने की स्थिति की समीक्षा किया, जिस पर अपर जिला अधिकारी ने बताया कि जनपद में पांच रेन बसेरा संचालित हैं जिनमें सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध हैं इसके साथ ही जनपद में भीषण ठंड को लेकर प्रमुख स्थानों पर अलाव जलाए जा रहे हैं। नोडल अधिकारी ने भीषण ठंड के दृष्टिगत निराश्रित गोवंश स्थलों पर पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी गोवंश स्थलों पर नोडल अधिकारियों की ड्यूटी लगा कर प्रतिदिन निरीक्षण कराया जाए तथा वहां पर सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। उन्होंने कहा कि सड़क पर निराश्रित गोवंश मिलने पर संबंधित के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी, ठंड के दृष्टिगत सभी गायों को काऊ कोट की व्यवस्था उपलब्ध कराई जाए, गौशाला में गायों के लिए हरे चारे व भूसा इत्यादि की पर्याप्त मात्रा सुनिश्चित की जाए। बैठक में जिलाधिकारी ने नोडल अधिकारी को आश्वस्त करते हुए कहा कि आपके द्वारा जो भी निर्देश दिए गए हैं उनका संबंधित अधिकारियों से शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company