देश

national

भाजपा परिवार व वंशवाद की पार्टी नही है -डॉ0 संजय सिंह

Thursday, February 17, 2022

/ by इंडेविन टाइम्स

o अमेठी हमेशा मेरी सांसो मे रहती है कभी न इससे दूर रहा न रहूँगा-डॉ0 संजय सिंह

हरिकेश यादव-संवाददाता (इंडेविन टाइम्स)

अमेठी। 

पूर्व केंद्रीय मंत्री व अमेठी विधानसभा सीट पर भाजपा प्रत्याशी डॉ0 संजय सिंह ने संग्रामपुर ब्लाक के गोरखापुर और बड़गाँव न्यायपंचायत  का दौरा किया। भाजपा प्रत्याशी डॉ0 संजय सिंह ने बेलखरी, भगतपुर, पूरे तालुकदार, बडगांव, सरैया बड़गांव, मिश्रौली, गरीबी का पुरवा, बेलखरी, मधुपुर, खदरी, शिवाला गंगापुर, कंसापुर, केशवपुर, कंसापुर, कनू, शीतलगंज, आदि गाँव  मे जनसंपर्क किया। 

 इस दौरान उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री व अमेठी विधानसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार डा0 संजय सिंह ने कहा कि भाजपा मे परिवार व वंशवाद नही है।

उन्होंने कहा कि भाजपा एक ऐसी पार्टी है जो देश- प्रदेश और समाज के लिए सोचती है। आप सब ने यूपी मे योगी जी की सरकार को देखा है जिसमे पुलिस ने कभी मंत्री की भैस खोजती नजर नही आयी। पुलिस ने अपराधियो को खोज कर उनको उनके सही स्थान पर पहुँचाया।

डा0 सिंह ने कहा कि मै बीच मे थोडा दूर भले रहा पर मै अमेठी से दूर कभी नही रहा अमेठी तो हमेशा हमारी सांसो मे रहती है। अमेठी मेरा घर है परिवार है इससे तो दूर रह ही नही सकता हूँ। आप सब से जो  प्यार सम्मान मिलता है उसे कैसे भूल सकता हूँ। मै तो हमेशा अपने को अमेठी का सेवक माना। कभी मै अपने को राजा नही समझा। राजपरिवार को हजार वर्ष से अधिक अमेठी की सेवा करते बीत गये है हमारे  पूर्वजो ने जो किया आज उसी को मै आगे बढा रहा हूँ।

डा0 संजय सिंह ने कहा जब मैं यूपी की सरकार मे था तब दस हजार युवाओ को नौकरी दिलायी थी। उसको अबकी बार 40 हजार पहुचा दूँगा उसका कारण है 40 साल का अनुभव मुझे पता है नौकरी कहां से निकलती और कैसे मिलती है।

डॉ0 संजय सिंह ने कहा कि हमने पूरी ईमानदारी से अमेठी की सेवा किया,  सबका काम किया। कोई नही कह सकता है की हमने किसी की मदद करने के लिए उससे पैसा लिया या उसकी चाय पी है। 1950 मे जब रियासते खत्म हुई तब ददन साहब ने कहा था कि जमीदारी खत्म हुई है अमेठी के  प्रति मेरी जिम्मेदारी नही। अमेठी की सेवा औरअमेठी की जिम्मेदारी हमारा धर्म है।  उसी परंपरा को हम सब आगे बढाते आ रहे है।

डा0 सिंह ने कहा कि अमेठी ने इतिहास मे तमाम रिकार्ड दर्ज कराये हैं जिसे कोई तोड नही पाया, तोडा है तो खुद अमेठी ने।आप सब ने मेरी जीत का रिकार्ड 1985 में बनाया था इस बार जिस तरह से आप सब का  प्यार सम्मान मिल रहा है आप सब मे उत्साह है वह रिकार्ड जरूर टूटेगा। इस दौरान भारी तादात मे क्षेत्र के लोग मौजूद रहे।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Group