देश

national

वर्चुअल रैली में बोले मोदी- नकली समाजवादी अपनी और अपने करीबियों की प्यास बुझाते रहे

नई दिल्ली। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) पर उत्तर प्रदेश के विकास का प्रवाह रोकने का आरोप लगाते हुए सोमवार को कहा कि ‘‘नकली समाजवादियों'' को गरीब और वंचित जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं था। प्रधानमंत्री ने बिजनौर, मुरादाबाद और अमरोहा के विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित जन चौपाल को वर्चुअल माध्यम से संबोधित करते हुए कवि दुष्यंत कुमार की दो पंक्तियों 'यहां तक आते-आते सूख जाती हैं कई नदियां, मुझे मालूम है पानी कहां ठहरा हुआ होगा' का जिक्र किया और आरोप लगाया, "वर्ष 2017 से पहले उत्तर प्रदेश में भी विकास की नदी का पानी ठहरा हुआ था। यह पानी नकली समाजवादियों के परिवार में उनके करीबियों में ठहरा हुआ था।" 

उन्होंने सपा पर आरोप लगाया, "इन लोगों को सामान्य मानव की विकास और प्रगति की प्यास से और गरीबी से मुक्त होने की प्यास से कभी कोई मतलब नहीं रहा। वह सिर्फ अपनी, अपने करीबियों की और अपनी तिजोरियों की प्यास बुझाते रहे। अपना स्वार्थ सोचने वाली यही प्यास विकास की नदी के हर बहाव को सोख लेती है। अपना घर भर लेने की यही प्यास गरीबों को घर नहीं देने देती थी। अपनी जेब भर लेने की यही प्यास गरीबों का राशन चट कर जाती थी। परियोजनाओं को लटका कर कमाई करने की इसी प्यास से लालफीताशाही और लेटलतीफी को ताकत मिलती थी।" मोदी ने दावा किया, "भाजपा प्रदेश के हर व्यक्ति को अपना परिवार मानती है। हमारा मंत्र है सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सब का प्रयास। इसलिए भाजपा की सरकार में भाई भतीजावाद और तुष्टीकरण की कोई जगह नहीं है।" 

उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री आवास योजना में घर मिलता है तो हर गरीब को मिलता है। इसके लिए उसकी जाति, उसका पंथ, उसका क्षेत्र नहीं देखा जाता है। जब उज्ज्वला योजना से गैस का कनेक्शन मिलता है तो माताओं और बहनों की जाति और पंथ नहीं पूछा जाता। जब गन्ना किसानों का बकाया भुगतान किया जाता है, सिंचाई का पानी मिलता है, वह सभी को बराबरी से मिलता है। यह फर्क मेरे उत्तर प्रदेश के किसान और गरीब भाई-बहन और नौजवान कभी भूल नहीं सकते। जो लोग आज जात-पात के नाम पर वोट मांग रहे हैं, जाति का वास्ता दे रहे हैं।, सत्ता में आने पर इन्हें केवल उनके परिवार का स्वार्थ ही याद रहता है।"

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Group