देश

national

जनता बोल रही मोदी जी लौटा दो मुझे बीते बुरे दिन- अधीर रंजन

Friday, February 4, 2022

/ by इंडेविन टाइम्स

                                

नई दिल्ली

लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने बेरोजगारी, महंगाई, चीन के साथ सीमा पर तनाव और कई अन्य मुद्दों को लेकर शुक्रवार को सरकार पर निशाना साधा और कटाक्ष करते हुए कहा कि देश के लोग अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ‘‘बीते बुरे दिन ही लौटाने'' को कह रहे हैं। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा में भाग लेते हुए चौधरी ने यह आरोप भी लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी सदन में नहीं आते हैं और विपक्ष के प्रश्नों का बहुत कम जवाब देते हैं। चौधरी के भाषण के दौरान प्रधानमंत्री मोदी सदन में मौजूद थे।

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘मुझे सरकार की नीतियों को लेकर असमंजस नजर आता है....हमें महापुरुषों से जुड़े समारोह आयोजित करने के साथ ही उनके विचारों पर चलने की भी जरूरत है।'' उन्होंने कहा, ‘‘हमें मुसलमानों की तुलना औरंगजेब और हिंदुओं की तुलना जयचंद से नहीं करनी चाहिए। ऐसा करना उचित नहीं है। हमें देश के इतिहास से सीखना चाहिए। सद्भाव और भाईचारे के विचारों को आगे बढ़ाना चाहिए।'' उन्होंने सत्तापक्ष से सवाल किया, ‘‘आप नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्मदिन मनाते हैं। क्या आप उनके साथियों आबिद हसन और शाहनवाज खान को भी याद करते हैं? क्या आप नेताजी के विचारों पर अमल करते हैं?''

चौधरी ने दिल्ली के इंडिया गेट स्थित अमर जवान ज्योति की लौ का राष्ट्रीय समर स्मारक की लौ के साथ विलय किए जाने का उल्लेख करते हुए आरोप लगाया कि केंद्र सरकार पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का नाम मिटाना चाहती है। उन्होंने कहा, ‘‘आप चाहते हैं कि इंदिरा गांधी जी का नामोनिशान नहीं रहे...सरकार को समझ लेना चाहिए कि आप कागज और पत्थर पर लिखे नाम को मिटा सकते हैं, लेकिन दिल पर लिखे नाम को नहीं मिटा सकते। इंदिरा गांधी जी का नाम देश के लोगों के दिल में है। उनकी और उनके परिवार की कुर्बानी को कभी नहीं भूला जा सकता।''

चौधरी ने कहा, ‘‘पाकिस्तान को सबसे ज्यादा कमजोर इंदिरा गांधी जी ने किया था। उन्होंने पाकिस्तान को घुटने टेकने को मजबूर किया था। लेकिन आप उनका नाम मिटाना चाहते हैं।'' उन्होंने दावा किया कि आजाद हिंद फौज जब पूर्वोत्तर को आजाद कराने के लिए बढ़ रही थी तो विनायक दामोदर सावरकर ने अंग्रेजों को समर्थन किया था।

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘हम आप लोगों पर आरोप नहीं लगा रहे हैं। हम सिर्फ यह चाहते हैं कि इतिहास को सामने रखकर आप इससे कुछ सीखें। सिर्फ जश्न मनाने से कुछ नहीं होगा।'' उन्होंने सत्तापक्ष पर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘‘आप देश को ‘80 प्रतिशत और 20 प्रतिशत' में बांटना चाहते हैं। लेकिन यह समझना चाहिए कि यह वतन सबका है।'' उन्होंने दावा किया कि प्रधानमंत्री सदन में नहीं आते और विपक्ष की बात का जवाब नहीं देते। चौधरी ने कहा, ‘‘आप संसद में नहीं आते हैं...वाजपेयी जी 77 गुना ज्यादा बोले। मनमोहन सिंह 48 गुना ज्यादा बोले। मनमोहन सिंह को ‘मौन' कहा जाता था। असल में मौन कौन है?'' उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को बताना चाहिए कि चीन ने अब तक हमारी कितनी जमीन को हड़प लिया है?

चौधरी ने प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘गलवान की घटना के बाद आप कहते हैं कि कोई नहीं घुसा। इसका सबसे ज्यादा फायदा चीन को हुआ। चीन को यह कहने का मौका मिल गया कि भारत के प्रधानमंत्री ने खुद कह दिया है कि चीन के सैनिक नहीं घुसे, बल्कि भारत के सैनिक उसकी सीमा में घुसे।'' उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा के सांसद तापिर गाओ ने कहा है कि चीन अतिक्रमण कर रहा है।'' इस पर कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने कहा कि चौधरी सदन में कांग्रेस के नेता हैं और उन्हें सोच-समझकर बात करनी चाहिए।

कांग्रेस नेता चौधरी ने कहा, ‘‘चीन और पाकिस्तान मिलकर भारत को कमजोर करने की कोशिश कर रहे हैं। इससे हमें निपटना होगा। हमें पहले अंदर की चीजों को सही करना होगा....हरिद्वार में धर्म संसद की घटना के बाद प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति को कई पूर्व सैन्य अधिकारियों ने पत्र लिखा था...सरकार ने इस मामले में क्या किया है।'' चौधरी ने बेरोजगारी का मुद्दा उठाते हुए कहा, ‘‘आज देश में 5.3 करोड़ नौजवान बेरोजगार हो गए हैं। पहले कहा गया था कि दो करोड़ नौकरियां देंगे और अब कह रहे हैं कि 60 लाख नौकरियां दी जाएंगी। अब नौजवान कह रहे हैं कि मोदी जी मुझे लौटा दो बीते बुरे दिन।'' उन्होंने महंगाई का उल्लेख करते हुए कहा कि अब जनता भी कह रही है कि ‘मोदी जी मुझे लौटा दो बीते बुरे दिन।'

कांग्रेस नेता ने प्रधानमंत्री पर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘‘आप 15 करोड़ रुपये की कार खरीदते हैं और 4,500 करोड़ रुपये का विमान खरीदते हैं। आपको नौजवानों का दर्द कैसे पता चलेगा?'' उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘आप पेगासस का हमारे खिलाफ इस्तेमाल कर रहे हैं। आप जनता के पैसे का दुरुपयोग कर रहे हैं। आप ऐसा क्यों कर रहे हैं?'' उन्होंने कहा, ‘‘आप घरेलू राजनीति के चक्कर में देश की सुरक्षा को खतरे में मत डालिए।'' चौधरी ने कहा कि सरकार को कोरोना महामारी से प्रभावित परिवारों को उचित मुआवजा प्रदान करना चाहिए।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Group