देश

national

तहसील मुसाफिरखाना में डीएम की अध्यक्षता में आयोजित हुआ संपूर्ण समाधान दिवस

० पीड़ित व्यक्ति की समस्याओं को गंभीरता से सुनकर करें निस्तारण- डीएम

० जन समस्याओं के निस्तारण के प्रति गम्भीर रहे और इसमें उदासीनता एवं लापरवाही क्षम्य नही होगी- जिलाधिकारी

० डीएम व एसपी ने पौधरोपण कर पर्यावरण संरक्षण का दिया संदेश

हरिकेश यादव-संवाददाता (इंडेविन टाइम्स)

अमेठी। 

आज जनपद की चारों तहसीलों में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र की अध्यक्षता में तहसील मुसाफिरखाना में कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए संपूर्ण समाधान दिवस आयोजित हुआ। संपूर्ण समाधान दिवस में जिलाधिकारी ने शिकायतकर्ताओं की समस्या सुनकर मौके पर अधिकारियों को निर्देश देते हुए  कहा कि शिकायतें लंबित न रखी जाये, शिकायतों को गम्भीरता से लिया जाये। इस अवसर पर पुलिस से संबंधित प्रकरणों को पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने सुना एवं संबंधित अधिकारियों को निस्तारण के निर्देश दिए। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने समस्त अधिकारियों को निर्देश दिए कि संपूर्ण समाधान दिवस में समय से आकर जन समस्याएं सुनें तथा उनका निस्तारण कराना सुनिश्चित करें इसमें लापरवाही किए जाने पर संबंधित अधिकारी के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी। आज संपूर्ण समाधान दिवस के दौरान सर्वाधिक शिकायतें राजस्व विभाग, पुलिस विभाग तथा विकास विभाग से संबंधित प्राप्त हुई। जिनके निस्तारण हेतु जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने लेखपालों को निर्देश दिए कि गांव में जाकर निरंतर भ्रमण कर अवैध कब्जा सहित छोटे-मोटे विवाद निपटाएं। डीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि ग्रामीणों के शिकायती पत्र प्राप्त होते ही तुरन्त कार्यवाही अमल में लाई जायें ताकि तत्समय मौके पर ही निस्तारण किया जा सके।  उन्होंने कहा कि जन सामान्य के कल्याणार्थ संचालित विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ पात्र लोगो को दिया जाना सुनिश्चित किया जाये। शासन द्वारा संचालित योजनाएं पात्र व्यक्ति तक अवश्य पहुंचनी चाहिए। आज तहसील मुसाफिरखाना में कुल 94 शिकायतें प्राप्त हुई जिनमें 04 शिकायतों का मौके पर निस्तारण कराया गया, तहसील गौरीगंज में 92 शिकायतें प्राप्त हुई जिसमें से 04 का निस्तारण किया गया, तहसील तिलोई में 30 शिकायतें प्राप्त हुई जिसमें 03 का निस्तारण किया गया तथा तहसील अमेठी में 65 शिकायतें प्राप्त हुई जिसमें से 08 शिकायतों का निस्तारण किया गया तथा शेष शिकायतों के निस्तारण हेतु पुलिस और राजस्व की संयुक्त टीमें मौके पर भेजी गई। जिलाधिकारी ने कहा कि शासन जन समस्याओं के निस्तारण के प्रति अत्याधिक गम्भीर है और इसमें उदासीनता एवं लापरवाही क्षम्य नही होगी। उन्होंने समस्त अधिकारियों को निर्देश दिए कि अपने-अपने कार्यालय समय से पहुंचे व जन समस्याएं सुनकर उनका निस्तारण करना सुनिश्चित कराएं। संपूर्ण समाधान दिवस के उपरांत डीएम व एसपी ने तहसील मुसाफिरखाना परिसर में पौधरोपण कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया। सम्पूर्ण समाधान दिवस के दौरान उप जिलाधिकारी मुसाफिरखाना सविता यादव, पुलिस क्षेत्राधिकारी मुसाफिरखाना अर्पित कपूर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सीमा मेहरा, प्रभागीय वनाधिकारी एम0एन0 सिंह, जिला विकास अधिकारी तेजभान सिंह, परियोजना निदेशक डीआरडीए आशुतोष दूबे, तहसीलदार मुसाफिरखाना संगीता पांडेय सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Group