देश

national

मोदी के स्वच्छ भारत के सपने को ठेंगा दिखाती सुल्तानपुर नगरपालिका

अर्चना नारायण
इंडेविन न्यूज नेटवर्क - सुल्तानपुर

सुल्तानपुर शहर में चारों तरफ गन्दगी का ढेर लगा होने के बावजूद नगर पालिका के जिम्मेदार मूकदर्शक बने बैठे हैं। नगरपालिका सफाई कर्मचारियों के कार्यों की निगरानी करने में पूरी तरह से विफल नज़र आ रही है। जगह-जगह पड़े गंदगी के ढेरों के कारण सुल्तानपुर वासियों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बदबू देते और कीड़ों से बजबजाते यह ढेर सैकड़ों  बीमारियों, संक्रमणों और महामारी को न्योता दे रहे हैं। 

कोविड-19 जैसी महामारी के बावजूद नगरपालिका की आँखों पर पट्टी बंधी हुई है, इनके जिम्मेदारों को सफाई का महत्व और अपनी जिम्मेदारी समझ  नहीं आ रही है। सोती हुई नगरपालिका सफाई कर्मियों से सही समय पर काम पूरा कराने और सफाई व्यवस्था की निगरानी करने में पूरी तरह से विफल है। यहाँ पर यह कहना बिलकुल सटीक होगा कि 'सफाईकर्मी कामचोरी में मस्त हैं और नगरपालिका के जिम्मेदार आराम में व्यस्त हैं'। 

अगर शहर के कुछ गन्दगी से भरे क्षेत्रों की बात करें तो उसमे पयागीपुर चौराहे से लेकर दरियापुर चौराहे तक के बीच में जगह-जगह गंदगी है। इस क्षेत्र में तो कभी भी कोई सफाईकर्मी नज़र ही नहीं आता है।  दरियापुर पुल के नीचे रेलवे क्रॉसिंग के नीचे गंदगी के साथ टूटे हुए कांच और शीशे का भी अम्बार है, जो यहां से गुजरने वालों के लिए गंभीर समस्या का कारण बन सकती है। विशेषकर पैदल स्कूल जाते छोटे छोटे बच्चों और महिलाओं के लिए यह गन्दगी और कांच परेशानी का कारण है, जो गंभीर चोट और संक्रमण को न्योता देती नज़र आ रही है। 

बार-बार शिकायत किये जाने के बावजूद भी न तो नगरपालिका इस पर कोई कार्यवाही करती है न ही इस मामले में सफाई कर्मियों को कोई दिशा निर्देश देती है। सुल्तानपुर नगरपालिका शहर को साफ सुथरा और रोग मुक्त रखने में विफल है। एक तरफ जहां प्रधानमंत्री मोदी देश को स्वच्छ भारत बनाने के लिए सभी अधिकारियों को आदेश दे रहे हैं, वहीँ सुल्तानपुर नगरपालिका उनके स्वच्च्छ भारत के सपने पर पानी फेरती नज़र आ रही है। 

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Group