देश

national

बाल्यावस्था में मौत का दूसरा बड़ा कारण दस्त- डॉ सीमा मेहरा

हरिकेश यादव-संवाददाता (इंडेविन टाइम्स)

अमेठी। 

04 जून 2022, जनपद में   एक जून  से 15 जून तक चलने वाले सघन दस्त पखवाड़ा अभियान के माध्यम से  जनपद के प्रत्येक परिवार को ओआरएस पैकेट व जिंक टेबलेट का वितरण किया जाएगा। उक्त जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सीमा मेहरा ने दी। उन्होंने बताया कि यह पखवाड़ा 15 जून तक चलेगा। इस दौरान आशा कार्यकर्ताओं के माध्यम से प्रत्येक परिवार को ओआरएस का पैकेट बांटा जाएगा। इस दौरान उनको ओआरएस का महत्व भी बताया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह जीवन रक्षक घोल है। इससे दस्त रोग से बच्चों के जीवन की रक्षा होती है। पखवाड़ा के दौरान आशा कार्यकर्ता लोगों को ओआरएस घोल बनाने के तरीके एवं बच्चों को पिलाए जाने के तरीकों की जानकारी दे रही है।

डॉ.मेहरा ने बताया कि प्रदेश में प्रति एक हजार बच्चों में से 48 बच्चों की बाल्यावस्था में मौत हो जाती है। पांच वर्ष की कम आयु के लगभग 10 प्रतिशत बच्चे दस्त के कारण जान गंवा देते हैं। बच्चों की मौत के प्रमुख कारणों में दस्त दूसरे स्थान पर है। इसका उपचार ओआरएस एवं जिंक की गोली मात्र से किया जा सकता है और बाल मृत्यु दर में कमी लाई जा सकती है।

उन्होंने बताया कि दस्त का प्रमुख कारण दूषित पेयजल, स्वच्छता की कमी, शौचालय का अभाव तथा कुपोषण है। 

निर्जलीकरण  के लक्षण :-

० बच्चा सुस्त रहता है |

० बच्चे की आँखें धंस जाती हैं |

० बच्चे को कुछ भी पीने में कठिनाई होती है |

० पेट की त्वचा पर चिकोटी भरने पर बहुत धीमे वापस जाती है |

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Group