देश

national

राहुल गांधी का मोदी सरकार पर हमला, कहा- देश के राजा का हुक्म है, जो सवाल पूछे उसे कारागृह में डाल दो

नई दिल्ली। 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं एवं सांसदों ने ‘नेशनल हेराल्ड' से जुड़े धनशोधन के मामले में सोनिया गांधी से प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पूछताछ के खिलाफ मंगलवार को प्रदर्शन किया, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। इसी बीच राहुल ने मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि तानाशाही देखिए, शांतिपूर्ण प्रदर्शन नहीं कर सकते, महंगाई और बेरोज़गारी पर चर्चा नहीं कर सकते। राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा कि देश के ‘राजा’ का हुक्म है - जो बेरोज़गारी, महंगाई, गलत GST, अग्निपथ पर सवाल पूछेगा - उसे कारागृह में डाल दो। भले ही मैं अभी हिरासत में हूं, भले ही देश में अब जनता की आवाज़ उठाना जुर्म हो, लेकिन वो हमारा हौसला कभी नहीं तोड़ पाएंगे।

इससे पहले कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा, ‘‘पुलिस ने कांग्रेस सांसदों को विजय चौक पर रोक दिया। हमें राष्ट्रपति भवन जाने से रोक दिया गया। जबरन गिरफ्तार कर लिया गया। अब हम पुलिस की बस में हैं, सिर्फ प्रधानमंत्री और गृह मंत्री जानते हैं कि हमें कहां ले जाया जा रहा है।'' कांग्रेस का कहना है कि पार्टी मुख्यालय में प्रदर्शन कर रहे उसके कई नेताओं को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। पार्टी महासचिव अजय माकन ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘आज पूरे देश में कांग्रेस पार्टी सत्याग्रह कर रही है। हम लोगों ने यह तय किया था कि दिल्ली के अंदर राजघाट पर सत्याग्रह करेंगे और जब तक सोनिया गांधी को पूछताछ के बाद वापस नहीं जाने दिया जाएगा, तब तक हमारा सत्याग्रह जारी रहेगा।''

वहीं माकन ने आरोप लगाया, ‘‘आज से लगभग 10 वर्ष पहले ईडी ने इस मामले को खत्म कर दिया था। अब इस मामले को एक बार फिर खोला गया है, केवल इसलिए कि सरकार विपक्षी दल के ऊपर दबाव डाल सके, और हम जरूरी मुद्दों को न उठा सकें।'' उन्होंने कहा, ‘‘राजनीतिक द्वेष की भावना से जो कार्रवाई की जा रही है, उसके खिलाफ कांग्रेस के कार्यकर्ता देश भर में सत्याग्रह कर रहे हैं।'' कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी मंगलवार को दूसरे दौर की पूछताछ के लिए ईडी के समक्ष पेश हुईं। ईडी ने इससे पहले ‘नेशनल हेराल्ड' अखबार से जुड़े कथित धनशोधन मामले में गत बृहस्पतिवार को कांग्रेस अध्यक्ष से दो घंटे तक पूछताछ की थी। कांग्रेस ने इसके विरोध में पूरे देश में प्रदर्शन किया था। पार्टी के कई नेताओं ने गिरफ्तारियां दी थीं। 


No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Group