देश

national

सडक निर्माण रोकने पर संरहगो ने की मारपीट, कई घायल

० आठ नामजद सहित घटना मे शामिल 

० उच्चाधिकारियों के दखल के बाद दर्ज हुई एफ आई आर

अमेठी। 

मनरेगा से जबरन सडक निर्माण बाग मे करवाने को लेकर  संघर्ष मे बाप, बेटे, कई घायल हुए ।और घर पर संरहगो ने आतंक मचाया। पीड़ित के बेटे को जबरन साथ ले गए। घर पर सन्नाटा छाया है। पुलिस पीड़ित का मुकदमा लिखने को राजी नही धी। शासन,प्रशासन के दखल के बाद पुलिस अधीक्षक अमेठी ने थाना अध्यक्ष परशुराम ओझा ने आठ लोगो को नामजद अभियुक्त करार देते हुए मुकदमा दर्ज किए। 

थाना संग्रामपुर के अन्तर्गत ग्राम पंचायत डेहरा के शनिचरा मे मनरेगा योजना से सडक निर्माण कार्य चल रहा था। सडक बाग मे जबरन बनवाने की शिकायत राम करन ने उप जिलाधिकारी अमेठी से की। हल्का लेखपाल मौके पर पहुंचकर कर बाग मे सडक बनवाने से साफ मना किया।लेखपाल के मना करने के बाद   सड़क मार्ग का निर्माण संगम, शिवदेव, आर्यन उर्फ शिवपूजन, रोहित उर्फ शिवाकान्त, श्रवण कुमार, अशोक कुमार, अनिल कुमार, सूरज,राम केश सहित अन्य कई लोग सडक बनाने मे लगे थे। सडक निर्माण की भनक लगते ही शाय काल राम करन, वेटे जितेन्द्र कुमार, गांव कई लोग बाग मे पहुंचे। जबरिया सडक निर्माण से मना किया। तो मौके पर संगम, शिव देव, आदि ने राम करन, जितेन्द्र कुमार, धर्मेंद्र कुमार को संरहगो ने आम राय होकर लाठी, डण्डे, राड, कुल्हाड़ी से बिरोधियो को पीट-पीटकर कर गम्भीर रूप से घायल कर दिए। देखते ही देखते चीख पुकार शुरु हो गई। लोग ने भाग कर जान बचाई 

संरहगो ने दौडा दौडा कर पीटा। घटना मे धर्मेंद्र कुमार के सिर और शरीर मे चोटे आयी। धर्मेंद्र कुमार के सिर मे सत्रह टाके लगे है इलाज चल रहा है।

गम्भीर रूप घायल धर्मेंद्र कुमार ने शासन प्रशासन के अधिकारियो के दरवाजे खट खटाए। तब जाकर पुलिस अधीक्षक अमेठी ने मामले को संज्ञान लिया। थानाध्यक्ष सगामपुर परशुराम ओझा ने भादंवि  147,148,324,323 की धाराओ मे मुकदमा दर्ज किए। कथित आरोपी संगम पुत्र शिवदेव, शिव देव पुत्र चन्द्र भूषण, आर्यन उर्फ शिव पूजन पुत्र महेन्द्र प्रकाश, रोहित उर्फ शिवा कान्त पुत्र महेन्द्र प्रकाश, श्रवण कुमार पुत्र कृष्ण देव, अशोक कुमार व,अनिल कुमार पुत्रगण हरदेव, सूरज पुत्र राजमणि, राम केश पुत्र दूधनाथ आदि के खिलाफ मुकदमा दर्ज किए है। यही नही संरहगो  ने राम करन के घर पर भी मारपीट कर उत्पात मचाया।पीड़ित परिवार के जितेन्द्र कुमार को जबरन साथ ले गए। पीड़ित परिवार मे सन्नाटा छाया है। पुलिस प्रधान के साथ मदद मे लगी है।पीड़ित परिवार की महिलाओ का कहना है। संरहग जितेन्द्र कुमार को अपने साथ जबरन ले गए। मुकदमा नही दर्ज कर रहे है। सरकार से इन्साफ की मांग की है। नारी को न्याय दो। थानाध्यक्ष सगामपुर का कहना है कि तहरीर के मुताबिक मुकदमा दर्ज है। अब पुलिस अपना काम करेगी।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Group