देश

national

शिक्षक कभी रिटायर नहीं होता- डॉ संजय सिंह

Monday, September 5, 2022

/ by इंडेविन टाइम्स

० गुरु को ईश्वर के बराबर दर्जा-प्रोफेसर पी के श्रीवास्तव 

हरिकेश यादव-संवाददाता (इंडेविन टाइम्स)

अमेठी। 

रणवीर रणंजय स्नातकोत्तर महाविद्यालय अमेठी में महान शिक्षाविद डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती शिक्षक दिवस के अवसर पर संगोष्ठी एवं शिक्षक सम्मान समारोह आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ संजय सिंह एवं अन्य अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलन एवं सरस्वती तथा राजर्षि  के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पार्जन से हुआ। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि ने कहा कि शिक्षक और सैनिक ना तो कभी रिटायर होते हैं और ना ही टायर्ड होते हैं। एक राष्ट्र निर्माण का कार्य करता है तो दूसरा राष्ट्र को निर्माण लायक बनाया है। सही मायने में अगर किसी समाज का विकास करना है तो वहां शिक्षा का विकास होना चाहिए। जिसके लिए शिक्षक का दायित्व सबसे अधिक महत्वपूर्ण होता है। अतिथियों का स्वागत करते हुए महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. पी. के. श्रीवास्तव ने कहा कि भारत में वैदिक काल से ही गुरु को ईश्वर के बराबर का दर्जा दिया गया है। एक शिक्षक ही है जो अपने शिष्यों में ज्ञान रूपी दीपक जलाता है जिससे समाज और राष्ट्र का निमार्ण होता है। शिक्षकों को भी अपने दायित्वों का पूरी ईमानदारी से करना चाहिए। 

मुख्य अतिथि‌ डॉ संजय सिंह ने अवकाश प्राप्त महाविद्यालय के पूर्व प्राचार्य डॉ त्रिवेणी सिंह, डॉ लालसाहब सिंह, डॉ अक्षयवर नाथ तिवारी, हिन्दी विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष एवं राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित साहित्यकार डॉ अनुज प्रताप सिंह, शिक्षक शिक्षा विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ अंगद सिंह, डॉ गोरखनाथ सिंह गौतम, डॉ प्रमिला, संस्कृत विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ ज्वलंत कुमार शास्त्री, भूगोल विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष एवं पर्यावरणविद् डॉ अर्जुन पांडेय, डॉ सत्यकाम आर्य आदि शिक्षकों को अंगवस्त्र एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। सभी के प्रति आभार कार्यक्रम के संयोजक प्रोफेसर लाजो पांडेय ने व्यक्त किया। कार्यक्रम में डॉ रामसुन्दर यादव डॉ राधेश्याम तिवारी, डॉ ओमशिव पांडेय, डॉ उमेश सिंह, डॉ सुरेन्द्र प्रताप यादव, डॉ सुधीर सिंह, डॉ राधेश्याम प्रसाद, डॉ संतोष कुमार सिंह, डॉ मनीषा सिंह, डॉ आशा गुप्ता, डॉ अजय कुमार सिंह, डॉ राधेश्याम सरोज, डॉ बीरेंद्र बहादुर सिंह, डॉ शिप्रा सिंह, श्रीमती श्वेता द्विवेदी, डॉ रीना त्रिवेदी, डॉ निधि सिंह, डॉ पवन कुमार पाण्डेय, डॉ सुभाष चन्द्र मौर्य, डॉ वन्दना भट्ट  आदि शिक्षक मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन डॉ आशा गुप्ता ने किया।

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Group